September 26, 2021

सुपर कम्पोस्ट बनाने के लिए गोठानो में डिकम्पोजर की तैयारी शुरू

राज्य शासन के मंशानुरूप कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा के मार्गदर्शन में जिले के गोठानो में अतिशेष खाद से सुपर कंपोस्ट बनाने के लिए समूह की महिलाओं द्वारा डिकम्पोजर तैयार करना शुरू हो गया है। गुड़ और गोबर के मिश्रण से महिलाएं तैयार करेंगी खरा वर्मी खाद जो पौधों के लिए फूड सप्लीमेंट का काम करेगा। इसके साथ ही भूमि की उर्वरा को भी बनाए रखने में सहायक होगा ।

 गोबर से  सुपर कम्पोस्ट बनाने के पहले चरण में वेस्ट डी – कंपोजर तैयार करना जरूरी है। डी कंपोजर तैयार करने के लिए वैज्ञानिक डॉ प्रशांत शर्मा एवं कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा सभी जनपदों के गोठान समिति से जुड़े समूह की महिलाओं को प्रशिक्षण दिया गया है जिससे महिलाओं ने गोठान में डिकंपोजर तैयार करना शुरू कर दिया है। गोबर और डिकंपोजर के मिश्रण को 40-45 दिन में सुपर कम्पोस्ट तैयार हो जाएगा
ऐसे बनेगा सुपर कम्पोस्ट- सबसे पहले डिकंपोजर घोल तैयार करने के लिए 200 लीटर पानी मे 2 किलो गुड़ एवं एक शीशी वेस्ट डीकंपोजर मिलाकर घोल तैयार किया जाता है। इस घोल को 3 से 7 दिन तक  प्रतिदिन दो बार दो मिनट तक  लकड़ी की छड़ी से  हिलाकर रखा जाता है। डिकंपोजर घोल में  9 से 10 गुना पानी मिलाकर  20-25 दिन पुराने 15 किलो  गोबर में 200 लीटर घोल को छिड़ककर अच्छी तरह से मिला दिया जाता है। गोबर को 7 से 15 दिन तक तिरपाल या पैरा से ढक कर रखा जाता है ताकि 60 प्रतिशत तक नमी बनी रहे। डी कंपोजर घोल मिलाये जाने की प्रक्रिया आवश्यकतानुसार 3 से 4 बार दोहराई  जाती है। डिकंपोजर घोल मिलाये जाने के 40 से 45 दिन बाद जैविक खाद तैयार हो जाता है।