September 23, 2021

विशेष पिछड़ी जनजाति परिवार के सदस्यों ने टीका लगवाकर टीकाकरण गांव के संकल्प को किया सिद्ध

कोरोना महामारी से बचाव के उपाय के लिए देशव्यापी टीकाकरण अभियान 18 से 44 वर्ष तथा 44 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के व्यक्तियों के लिए चलाया जा रहा है। टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य विभाग एवं जिला प्रशासन द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है। टीकाकरण को लेकर शहरी क्षेत्र के लोगो मे उत्साह है वही ग्रामीण क्षेत्र में अनेक भ्रांतियों के कारण लोगो मे झिझक है। ऐसे में जिला मुख्यालय अम्बिकापुर से करीब 55 किलोमीटर दूर वनांचल एवं जनजातीय बाहुल्य विकासखण्ड मैनपाट के विशेष पिछड़ी जनजाति मांझी-मझवार बाहुल्य गांव पथरई के टीकाकरण के लिए पात्र लोगो ने तमाम भ्रांतियो को दरकिनार करते हुए कोविड का टीका लगवाया और पूर्ण टीकाकरण गांव के संकल्प को सिद्ध कर दिखाया है। इसके साथ ही अब सरगुजा जिले में शत-प्रतिशत टीकाकारण वाले 4 ग्राम हो गये हैं। पथरई  में 18 प्लस एवं 45 प्लस उम्र के सभी 247 लोगो का टीकाकरण 22 जून को पूरा हो गया। लुण्ड्रा विकासखंड के ग्राम डहोली और पुरकेला तथा बतौली विकासखण्ड के ग्राम बतौली के 18 प्लस उम्र के लोगों का शत-प्रतिशत  टीकाकरण हो गया है। कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा ने पूर्ण टीकाकरण के लिए संकल्पित ग्रामवासियों को बधाई दी है तथा टीकाकरण कार्य मे जुटे अधिकारी एवं कर्मचारियों को आगामी 15 अगस्त को सम्मानित करने की बात कही है।

     उल्लेखनीय है कि कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा के मार्गदर्शन में जिले में कोविड-19 का टीकाकरण विगत 16 जनवरी से किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में सेक्टर प्रभारी एवं ग्राम प्रभारी सहित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और मितानिन लगातार टीकाकरण के लिए मोबिलाइज कर रहे है है। इसी प्रकार नगर पालिक निगम में भी स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम की टीम द्वारा वार्डो में कैम्प लगा कर टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है। जिले में टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाई जा रही है। प्रत्येक सेक्टर प्रभारी को हर सप्ताह एक-एक गांव को शत-प्रतिशत टीकाकरण गांव बनाने की जिम्मेदारी दी गई है। जिसके परिपालन में सेक्टर अधिकारी अपने सेक्टर अंतर्गत ग्रामों को पूर्ण टीकाकरण गांव बनाने में जुटे है।