September 26, 2021

फिल्म निर्माण के लिए नीति बनाने में जुटी छत्तीसगढ़ सरकार, संस्कृति मंत्री भगत ने ली बैठक

छत्तीसगढ़ में फिल्म निर्माण के नाम पर अब तक कुछ नहीं हुआ है, कोई नीति नहीं बनी है. हम नई नीति बनाएंगे और फिल्म उद्योग के तौर पर विकसित करेंगे. कलाकारों को तमाम प्रकार की सुविधाएं मिलेगी. यह बात संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने इस विषय पर विभाग की वर्चुअल बैठक को लेकर कही.

संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने बताया कि बैठक में तैयार किए गए ड्राफ्ट पर चर्चा होगी, उसके बाद प्रस्ताव कैबिनेट में भेजा जाएगा , जिसके बाद निर्णय लिया जाएगा. बैठक में वर्तमान परिवेश के आधार पर छत्तीसगढ़ी फिल्म उद्योग हेतु फिल्म नीति पर सुझाव आमंत्रित किए गए हैं. कयास लगाए जा रहे थे कि इस दौरान फिल्म निर्माण नीति की घोषणा हो सकती है.

संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत की अध्यक्षता में हो रही वर्चुअल बैठक में मुख्यमंत्री सलाहकार व फ़िल्म विकास निगम के मुख्य सलाहकार गौरव द्विवेदी, संस्कृति विभाग के सचिव अंबलगन पी. , संस्कृति विभाग के संचालक विवेक आचार्य एवं विभागीय अधिकारी मौजूद हैं.

मंत्री अमरजीत भगत ने केंद्र सरकार द्वारा धान सहित अन्य खरीफ के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) बढ़ाए जाने को चालाकी भरा कदम बताया है. उन्होंने कहा कि एक हाथ से किसानों को दिया, वहीं कृषि से जुड़ी वस्तुओं की कीमत बढ़ाकर दूसरे हाथ से ले लिया. किसानों की भलाई के लिए जितना भी छोटा क़दम उठाया जाए, हम उसका स्वागत करते हैं, लेकिन केंद्र सरकार ने चालाकी दिखाई है. केंद्र की नई एसएसपी से छत्तीसगढ़ में कोई असर नहीं पड़ेगा, हमने किसानों से जो 2500 रुपए समर्थन मूल्य का वादा किया है, उस पर टिके रहेंगे.