बेटियों ने 15 हजार फीट ऊंची सोलांग पर्वत की चढ़ाई, बढ़ाया जिलेवासियों का मान

 जिले की पर्वतारोही बेटियों ने हिमाचल प्रदेश के सोलांग वेली पर्वत की चढ़ाई कर देश का तिरंगा झंडा फहराया है. बेटियों ने अपने मां-बाप सहित जिले का नाम रोशन किया है. पर्वतारोहियों के नगर आगमन पर लोगों ने भव्य स्वागत किया है.

राजनांदगांव शहर के चिखली निवासी पर्वतारोही दीपशिखा सिन्हा और डोगरगढ़ के ग्राम चिद्दो निवासी गुंजा सिन्हा ने हिमाचल प्रदेश के सोलांगवेली स्थित माउण्ड फ्रेडशीप पर्वत की 15 हजार फीट उंचाई पर चढ़कर राष्ट्रीय ध्वज तिंरगा लहराया है. दीपशिखा और गुंजा ने अपने माता पिता सहित जिले का नाम रोशन किया है. इन पर्वतारोहियों के नगर आगमन पर शहरवासियों ने ठोल नगाड़ों और फूल मालाओं से भव्य स्वागत किया है.

इस मौके पर तिलक लगाकर आरती उतारी गई और फूल मालाओं से भव्य स्वागत किया गया. वहीं महापौर हेमा देशमुख ने पर्वतारोहियों का फूल माला और गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया है और इनकी उज्जवल भविष्य की कामना की है. इस अवसर पर महापौर हेमा देशमुख ने पर्वतारोहियों के इस हौसले को राजनांदगांव जिले के लिए बड़ी गर्व की बात बताई है.

हिमांचल प्रदेश के मनाली के सोलांगवैली स्थित माउन्ट फ्रेंडशीप पर्वत पर फतेह हासिल कर लौटी जिले के चिखली निवासी दीपशिखा सिन्हा बेहद उत्साहित है और इसे अच्छा अनुभव बताया है.

पर्वतारोही के आगमान पर दीपशिखा सिन्हा के परिजनों ने इसे गर्व की बात बताया है और 15 हजार फीट की ऊंची पर्वत की चढ़ाई कर उनकी बेटी ने जिले सहित देश  प्रदेश का मान बढ़ाया है.

हिन्दूस्तान एडवेंचर फाउण्डेशन व्दारा साहसिक फ्रेडशीप क्विबिंग पीक का आयोजन 18 जून से 24 जून तक हिमाचल प्रदेश के कूल्लू मनाली में किया गया, जहां पर पर्वतारोहियों ने सोलांगवेली के 15 हजार फीट पर्वतमाला की शिखर पर पहुंचकर भारत का तिरंगा लहराया है. देश-प्रदेश सहित जिले का मान बढ़ाया है.