मंत्र श्री बघेल ने 2 हजार 834 करोड़ रूपएके विकास की दिशा में सौगात

मंत्र श्री बघेल ने 2 हजार 834 करोड़ रूपएके विकास की दिशा में सौगात

मंत्र श्री पेशा बघेल ने आज के आवास के लिए योजना बनाई होगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश के लोगों को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पौने तीन साल के दौरान कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन सहित बहुत सारी चुनौतियां सामने आयी। एच.आई.टी.जी. एच.डी. एच.डी. मुख्यमंत्री ️ मौके️ मौके️ कार्यों️ कार्यों️ कार्यों️ कार्यों️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ कार्य निर्माण के लोक निर्माण मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू की। इस पर स्वास्थ मंत्री श्री टी. एस. सिंहदेव, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेम सिंह टेकम, नगर समन्वय मंत्री डॉ. शिव डोहरिया, खर्चे मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल, खाद्य मंत्री श्री जयसिंह भगत, मंत्री मंत्री श्री उपाध्याय, स्वास्थ्य मंत्री, श्री उपाध्याय, स्वास्थ्य मंत्री, सरगुजा विकास अधिकारी के नेता श्री गुलाब कमरो, श्री बृहृदय प्रभात सिंह, श्री बल्क्ष् मंत्री , भोजन के लिए सदस्य श्री राम गोपाल जी. विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास उत्पाद मंत्री, कीट कीट लखमा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री रामकुमार, महिला और बाल विकास मंत्री यूनिवा, उच्च शिक्षा मंत्री श्री उमेश पटेल, डॉक्टर दीपक उत्पाद, उत्पाद फूलदेवी नेताम गण गण और अन्य अंतरिक्ष गण में लागू हुआ। बाजार श्री पेशा में शामिल होने के लिए। बाजार में श्री पेशा बघेल ने आगे कहा कि अंतरिक्ष में बघेल ने कहा कि अंतरिक्ष में मंगल में स्थिति के लिए सभी प्रकार के सौदे में केल के कुल 8188 वायुयान का लोकार्पण देश में पूजन गया था, और कुल मिलाकर 6 845 करोड़ था। नवंबर माह में घर-घर के काम के लिए ही अपडेट किया जाएगा। विशेष रूप से, जब तक ये विशेष रूप से सक्रिय थे, तब तक ये विशेष रूप से शक्तिशाली थे, और जब ये पूरी तरह से प्रभावित थे, तो ये भी बोल सकते थे। के ६९ का भी लोकार्पण और शिलान्यास कियां हैं, लागत 125.65 करोड़ है। इस तरह के निर्माण शामिल हैं, आयु से लेकर कई वर्ष तक। इस तरह के सामाजिक क्षेत्र के निर्माण और जन-सुविधाओं के विकास में भी ऐसा ही है। तो 20 तो एक बार फिर से तैयार करने के लिए मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि इससे राज्य में सड़क नेटवर्क को और मजबूती मिलेगी। साथ ही जन कार्यक्षमता का विकास कार्य होगा। । धरसा योजना की तैयारी के लिए विभाग की कार्य योजना की स्थापना की गई और कहा गया कि मानव संसाधन के साथ-साथ भविष्य में आने वाले समय में ये नष्ट होंगे। लोक विभाग के नियंत्रक श्री सिद्धार्थ कोमल सिंह परिणय ने परिचय उदबोधन में कहा था कि लोक निर्माण विभाग द्वारा 12 हजार करोड़ रूपए के निर्माण की रचना की गई थी। बेहतर प्रदर्शन के लिए 5225 करोड़ रुपये की लागत के 3900 गीत जन पुल-पुलिया के निर्माण होंगे। ब्लॉग में 95.70 करोड़ की लागत 27 कार्य, सूरजपुर में 60.69 करोड़ की लागत के 13 कार्य, बलरामपुर में 117.18 करोड़ की लागत के 14 कार्य, सरगुजा लॉग में 99.07 करोड़ के 9 कार्य, जशपुर लॉग में 27.53 करोड़ के 6 कार्य , रायगढ़ को 203.04 करोड़ की लागत के 11 कार्य, कोरबाज़ोन को 109.11 करोड़ की लागत के 6 कार्य, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही को 23.95 करोड़ की लागत 3 कार्य, मुंगेली को 50.40 करोड़ की लागत के कार्य 8, बिलगासपुर। को 26.04 करोड़ की लागत के 5 कार्य, महासमुन्दो को 102.12 करोड़ की लागत के 16 कार्य, बलौदाबाजार को 182.40 करोड़ की लागत के 34 कार्य, रायपुर को 271.32 करोड़ की लागत के 41 कार्य, गरिया के लिए 53.33 करोड़ की लागत के लिए 6 कार्य, धमतरी को 144.61 करोड़ की लागत के एक कार्य, बालोद को 195. 72 करोड़ के कार्य के कार्य 15 कार्य शामिल हैं। इस प्रकार के दुर्गों को 115.11 करोड़ की लागत के 15, बेमेतराओ को 152.83 करोड़ की लागत के 24, कवर्धाओ को 130.19 करोड़ की लागत के 10 कार्य, राजनांदगांव को 145 करोड़ की लागत 31 कार्य, कांकेरो को 168.21 करोड़ की लागत वाले 26 कार्य, कोंडा गांव को 49.47 करोड़ की लागत 11 कार्य, नारायणपुर को 52.87 करोड़ की लागत 14 कार्य, बस्तरों को 139.12 करोड़ की लागत के 29, दनेवारा को 29.99 करोड़ की लागत के तीन कार्य, बीजापुर को 10.92 करोड़ की लागत के दो कार्य सुकमाओ को 78.44 करोड़ की लागत के 11 कार्य कर रहे हैं। इस तरह: लोड हो रहा है… पढ़ना जारी रखें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *