September 24, 2021

बच्चों के साथ अब परिजनों के लिए भी मोहल्ला क्लास, अशिक्षित पेरेंट्स को दी जाएगी शिक्षा

बच्चों के साथ अब पालकों के लिए भी मोहल्ला क्लास की शुरुआत होने जा रही है। पढ़ना-लिखना अभियान के तहत अब बच्चों के साथ-साथ  पालकों को भी शिक्षा दी जाएगी। अशिक्षित पालकों को शिक्षित करने का लक्ष्य रक्षा गया है। पालकों को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने का उद्देश्य रखा या है। नए सत्र से इस अभियान की शुरुआत होगी। 

लॉकडाउन में पढ़ाई प्रभावित न हो इसलिए मोहल्ला क्लास की शुरुआत की है। स्कूल के शिक्षक मास्क लगाकर रोज गांव के एक मोहल्ले में जाते हैं। सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए मोहल्ले के 4-5 बच्चों को किसी एक स्थान पर इकट्‌ठा करते हैं और फिर वहीं शुरू हो जाती है प्राथमिक शाला की पढ़ाई। इस चलते-फिरते स्कूल में हर कक्षा के बच्चे होते हैं। सबके अपने-अपने सवाल होते हैं। स्कूल के शिक्षकों के पास हर सवाल का जवाब होता है।

शिक्षक सोशल डिस्टेंसिंग से ही सबकी कॉपियों में हल किए जवाबों को देखते हैं और सही करवाते हैं। किसी को नया होमवर्क देते हैं, तो किसी को सुधार के लिए कहते हैं। शिक्षक इस दौरान पालकों से बच्चों की पढ़ाई के बारे में तो बातें करते ही हैं। साथ ही घर में ही मास्क तैयार करने, घर-मोहल्ले की साफ-सफाई और कोरोना संक्रमण से बचाव की अन्य जानकारियां भी लोगों को बतलाते हैं।