September 25, 2021

ग्लोबल टेंडर को लेकर हाईकोर्ट का नोटिस, प्रदेश सरकार से विदेशी वैक्सीन कंपनियों से सीधे टीका खरीदने की मांग

ग्लोबल टेंडर जारी करने को लेकर हाईकोर्ट ने सरकार को नोटिस जारी कर 7 दिनों में जवाब मांगा है। हाईकोर्ट के वकील शैलेंद्र दुबे की जनहित याचिका पर कोर्ट ने सरकार से जवाब मांगा है।
याचिका में ग्लोबल टेंडर जारी कर विदेशी वैक्सीन उत्पादकों से सीधे वैक्सीन खरीदने की मांग की गई है। याचिका में राज्य सरकार से ग्लोबल टेंडर जारी करने को कहा गया है। याचिका में ये भी कहा गया है कि तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए सरकार ग्लोबल टेंबर जारी करने पर जल्द फैसला लें।
.देश में कोविड 19 के वैक्सीन की भारी किल्लत को देखते हुए कई राज्यों ने दुनिया के दूसरे देशों से ग्लोबल टेंडर के द्वारा इसे मंगाने की तैयारी शुरू कर दी है। केंद्र सरकार भी राज्यों को इस बात के लिए प्रोत्साहित कर रही है। यूपी सरकार ने ग्लोबल टेंडर जारी कर दिया है और ऐसा करने वाला वह पहला राज्य हो गया है।
उत्तर प्रदेश सरकार ने चार करोड़ वैक्सीन डोज मंगाने के लिए ग्लोबल टेंडर जारी कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उत्तर प्रदेश सरकार ने सीरम और भारत बायोटेक से भी 50-50 लाख वैक्सीन खरीदने का ऑर्डर दिया है। इसके अलावा सरकार 4 से 5 करोड़ डोज वैक्सीन ग्लोबल टेंडर के माध्यम से खरीदेगी।
सरकार ने भी सोमवार को ऐलान किया है कि वह ग्लोबल टेंडर से वैक्सीन मंगाएगी। मंगलवार को तेलंगाना सरकार ने भी कहा है कि वह कोविड वैक्सीन की खरीद के लिए ग्लोबल टेंडर जारी करेगी।
महाराष्ट्र सरकार ने भी यह संकेत दिया है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वैक्सीन की खरीद करने की कोशिश की जाएगी। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने भी कहा कि दिल्ली सरकार कोविड वैक्सीन के लिए ग्लोबल टेंडर जारी करेगी।
कर्नाटक सरकार ने भी ऐलान किया है कि वह 2 करोड़ डोज वैक्सीन ग्लोबल टेंडर से मंगाएगी ताकि 18 से 44 साल के लोगों को टीका लगाने का काम पूरा हो सके।
गौरतलब है कि भारत कोविड वैक्सीन के मामले में दुनिया के सबसे बड़े बाजार में से है। इसलिए यहां वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों के लिए कारोबार का अच्छा मौका है। यहां के करीब 130 करोड़ जनसंख्या को टीका लगाने के लिए 260 करोड़ से ज्यादा डोज की जरूरत होगी। इसलिए इस बडे बाजार को हासिल करने के लिए सभी प्रमुख टीका कंपनियां काफी​ किफायती बोली लगाएंगी। अकेले यूपी में 18 से 44 साल के लोगों की संख्या 9 करोड़ है। इसी तरह 45 साल से उपर के लोग करीब 4।3 करोड़ हैं।
ग्लोबल टेंडर असल में दुनिया भर के देशों की कंपनियों के लिए जारी किया जाने वाला टेंडर होता है। यह संबंधित विभाग अपनी वेबसाइट पर या प्रतिष्ठित राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मीडिया के द्वारा जारी करता है। इसे वैश्विक टेंडर से संबंधित कई वेबसाइट्स पर भी जारी किया जाता है। ग्लोबल टेंडर इसलिए जारी किया जाता है ताकि खरीद की प्रक्रिया पारदर्शी हो और सबको मौका दिया जाए।
इसके माध्मय से अंतरराष्ट्रीय कंपनियों को आमंत्रित किया जाता है कि वे माल की सप्लाई के लिए बोली लगाएं। जिस कंपनी की बोली सबसे किफायती होती है उसे आपूर्ति का ठेका दे दिया जाता है।
यूपी सरकार ने पिछले हफ्ते ही ग्लोबल टेंडर जारी कर दिया है और ऐसा करने वाला वह पहला राज्य हो गया है। यूपी सरकार मई के अंत तक इस टेंडर के विजेता का नाम घोषित कर देगी।